Latest Articles

जिगर के टुकड़े को पत्थर से दबाया

हिन्दी कोना - Friday, June 21, 2013 8:42:46 AM



अलीगढ़ के रहने वाले हरिओम वर्मा का पूरा परिवार मौत की आगोश में समा गया और वह कुछ नहीं कर सके।
बेटे ने तो उनकी बांहों में दम तोड़ा, लेकिन नियति ने उन्हें इतना मजबूर बना दिया था कि वह अपने लाडले के लिए कुछ भी नहीं कर पाए।
परिवार के साथ-साथ उसका अंतिम संस्कार भी नहीं कर पाए। बेटे को पत्थर के नीचे दबाकर ही लौटना पड़ा।


2018 DelhiHelp

Comments




Today's Poll
  • Should national anthem be played in cinema halls?






Latest News
Leading telecom operators Bharti Airtel and Reliance Communications will start selling Apple’s iPhone 5S and iPhone 5C smartphones ...